खामोशी शायरी गम भरे शायरी दर्दे दिल शायरी

शायरी – तुमको अगर मैं अपने दिल में बसा लूं

जो खुदा हर पल मेरे अहसासों में है मेरी जां तू उसकी एक झलक तो नहीं तुमको अगर मैं अपने दिल में बसा लूं ये काम जमाने में कोई गलत तो नहीं

prevnext

जो खुदा हर पल मेरे अहसासों में है
मेरी जां तू उसकी एक झलक तो नहीं

तुमको अगर मैं अपने दिल में बसा लूं
ये काम जमाने में कोई गलत तो नहीं

यूं सोचता रहूं और तुमसे कह न सकूं मैं
तो फिर रहोगी तुम हमसे अलग तो नहीं

रातभर तेरी तस्वीर को देखता रहा लेकिन
झपकी एक बार भी मेरी पलक तो नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements
Advertisements