शायरी – सुनते रहे बस उसकी, वो कहती रही बतियां

love shayari hindi shayari

एक बार जो फेरी थीं उसने मेरी तरफ अंखियां
पलभर में लगी आग, बुझाने में लगी सदियां

मुहब्बत ने हमको चुप रहने की सजा दी है
सुनते रहे बस उसकी, वो कहती रही बतियां

हर शाम को हमें छोड़के वो घर जाती है लेकिन
कभी पूछा नहीं हमसे कि कैसे कटती हैं रतियां

जितनी देर वह दूर रहती है, मेरा दिल दुखता है
वो अपने साथ ही लाती है दिलकश चंद घड़ियां

©RajeevSingh #love shayari

Advertisements