शायरी – वो बहुत दीवानगी भरी बातें करती है

new prev new shayari pic

ऐ दोस्त मेरे दुश्मन को तेरी जरूरत है
मेरे कातिल को मशविरे की जरूरत है

वो बहुत दीवानगी भरी बातें करती है
कहती है, उसे सिरफिरे की जरूरत है

इश्क को हमेशा जिंदा रखने के लिए
हर दिल को एक मकबरे की जरूरत है

मेरी खुशियों को देखकर जलने वाले
रिश्तेदारों को तेज उस्तरे की जरूरत है

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements