हुस्न की आग शायरी ईमेज

शायर की शायरी – मेरी खाक को आंचल में बांध लेना तुम

red pre red nex

 

हुस्न की आग शायरी ईमेज
ले चल मेरी मैयत को तन्हाई में कहीं
हुस्न की इस आग से ये लाश जला दे

prev shayari next shayari

Advertisements