सच्चा प्यार शायरी

शायरी – मैं तो जिंदा हूं, तेरा ख्वाब जो सलामत है

30/09/2015 // 0 Comments

तेरी यादों के जज्बात इस कदर छलके मेरी आंखों के पैकर से अब जहर छलके मैं तो जिंदा हूं, तेरा ख्वाब जो सलामत है रात दिन तेरा ही चेहरा हर पहर झलके [Read More]

शायरी – गम से घिरे इंसान को यूं छोड़ देता है जहान

18/09/2014 // 0 Comments

हिंदी शायरी वो जानेवाला चला गया, मुड़ के कभी देखा नहीं एक भीड़ देखती रही, किसी ने उसे रोका नहीं गम से घिरे इंसान को यूं छोड़ देता है जहान तन्हा ही वो मरता रहा और तूने भी टोका नहीं [Read More]

शायरी – अजनबी तू क्यों दिल के करीब लगता है

16/07/2014 // 1 Comment

शायरी जबसे देखा है तुमको, तू ही हबीब लगता है अजनबी तू क्यों दिल के करीब लगता है तेरे उदास चेहरे पे ये लबों की मुस्कुराहट देखती हूं तो ये अहसास अजीब लगता है [Read More]

शायरी – मेरे आंसुओं को वो कभी भुला न सकी

08/05/2014 // 0 Comments

गुनाह ए इश्क का ऐसा गम पीया उसने खुद खाक में मिलकर ही दम लिया उसने पलट-पलट के मुझे देख जाने कितनी बार हंस-हंस के आंखों को नम किया उसनेगुनाह ए इश्क का ऐसा गम पीया उसने खुद खाक में मिलकर ही दम लिया उसने पलट-पलट के मुझे देख जाने कितनी बार हंस-हंस के आंखों को नम किया उसने [Read More]

शायरी – मत कहिए जमाने से कि लगा है दिल का रोग

26/07/2013 // 1 Comment

सनम की आंखों में हम अपना दीदार कर बैठे उनके रूबरू हम नजरों से यूं तकरार कर बैठे मत कहिए जमाने से कि लगा है दिल का रोग वो कहेंगे न था कोई काम तो ये रोजगार कर बैठे [Read More]
1 2
Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 146 other followers