%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%9b-%e0%a4%a6%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%a6-%e0%a4%9c%e0%a5%8b-%e0%a4%a6%e0%a5%87%e0%a4%a4%e0%a5%87-%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%82-%e0%a4%b6%e0%a4%be%e0%a4%af%e0%a4%b0%e0%a5%80

तेरा गम उसे आज शायरी

कुछ दर्द जो देते हैं रोज जिगर पे दाग
तेरा गम उसे आज आंसू से धो गया है

कभी फुरसत मिले, मेरे दिल को सुनो
जो तेरी याद में चुपके-चुपके रो गया है

Advertisements

Leave a Reply