Tag Archives: दुआ शायरी

शायरी – आंसू के कतरों से तेरे लिए दुआ निकली

love shayari hindi shayari

मेरी आंखों से गुनाह की सजा निकली
आंसू के कतरों से तेरे लिए दुआ निकली

जो ख्यालों में बहुत सच्ची लगती थी
उसे करीब से देखा तो बेवफा निकली

जिसे पीकर मैं कभी होश में न आ सका
वो हुस्न तो एक दिलकश नशा निकली

जब लौटा उसके दर से ठोकरें खाकर
आईने में अपनी सूरत गुमशुदा निकली

मुझे मुहब्बत के समंदर में डुबोकर
जाने किधर साथ छोड़ मेरी खुदा निकली

©RajeevSingh #love shayari

Advertisements

शायरी – तूने आशिकी में मेरे दिल के टुकड़े किए

love shayari hindi shayari

जख्मे-दिल सीने में दरिया सा बहता है
मेरे खूने-जिगर में तेरा खंजर रहता है

तूने आशिकी में मेरे दिल के टुकड़े किए
तेरा जाना मुझे शीशे की तरह चुभता है

कोई अंजाम बाकी नहीं मेरे जीवन में
दर्द ही दर्द आठों पहर आंखों से रिसता है

जहां भी रहो, तुम खुश रहना मेरी जान
ये दिल तेरी खातिर यही दुआ करता है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरे जीने की दुआ मांगती रहती हूं मैं

love shayari hindi shayari

मेरी आंखों में सिर्फ तू ही तू बसता है
ये मुझे पता है और आईने को पता है

तेरे जीने की दुआ मांगती रहती हूं मैं
और तूने मुझको दी मौत की सजा है

कोई न जान सका है ये राज-ए-इश्क
अजनबी पर दिल क्यों होता फिदा है

जब भी आहट सुनाई दे जाती है कोई
मुझे लगता है कि ये तुम्हारी सदा है

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – मुहब्बत की दुआ तुम तक पहुंच जाती तो अच्छा था

love shayari hindi shayari

मोहब्बत की दुआ तुम तक पहुंच जाती तो अच्छा था
तू कभी चल कर हमारे पास आ जाती तो अच्छा था

सारी दुनिया का दर्द तेरी दो आंखों में सिमट आया था
समंदर की लहरें मेरे दामन भिगो जाती तो अच्छा था

कभी करीब से चांद को छूना अब तक तो नसीब न हुआ
मेरे आईने को एक बार चेहरा दिखा जाती तो अच्छा था

तुझे भूल सकता हूं मगर ये करने को मेरा जी नहीं करता
इस आशिक को तू अपने जैसा बना जाती तो अच्छा था

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – जो फूल उसकी जुल्फों तक नहीं पहुंच सका

love shayari hindi shayari

मुहब्बत के मुकद्दर में वो हसीं शाम कभी होती
सोचता हूं ये जिंदगी तो उसके नाम कभी होती

जो फूल उसकी जुल्फों तक नहीं पहुंच सका
उसे तोड़ने को वो दिल से परेशान कभी होती

मुझे पत्थर समझकर जो हमेशा तराशती रही
उस खुदा से हमारी दुआ सलाम कभी होती

जिसको देखा किए हर शब उल्फत के आइने में
वह अक्स हमारे आशियां की मेहमान कभी होती

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – अब दिल के लिए कोई पत्थर भी तो आए

love shayari hindi shayari

तुम किस अंधेरे में हो ऐ नूर खुदा के
शब ने तुझे पुकारा है खामोश सदा से

दामन की उलझनों में डूबे हुए हैं हम
लो दफ्न हो गए हैं खुद अपनी खता से

अब दिल के लिए कोई पत्थर भी तो आए
ऐ बेरहम तन्हाई मुझे इतनी दुआ दे

एक दर्द का वजूद है आगोश में मेरे
वो दूर रह रहा है अपनी दिलरुबा से

©RajeevSingh #love shayari