Tag Archives: दुश्मन शायरी

shayari – इश्क की सारी रस्में निभाकर बैठा हूं

shayari latest shayari new

बेवफा से वफा शायरी इमेज

देखिए यहां सब जी रहे हैं अपनी धुन में
और मैं खामोश तूफानों के अंदर बैठा हूं

सब तारीफ कर रहे हैं मेरी महफिल में
शायद शरीफ होने का गुनाह कर बैठा हूं

मतलब की दुनिया से दूर रहता हूं इतना
कि मैं सबको खुद से खफा कर बैठा हूं

दूसरों को नसीहत दिया करता था कभी
मगर खुद बेवफा से वफा कर बैठा हूं

दिल को तोड़ने वाली शायरी

मैंने मोहब्बत सिर्फ एक से की अब तक
इश्क की सारी रस्में निभाकर बैठा हूं

वो शायद कभी मिल नहीं पाएगी मुझे
मैं मुकद्दर में ये बात लिखवाकर बैठा हूं

मेरी बातों में बहुत मोहब्बत झलकती है
क्या कहूं, अपना दिल तुड़वाकर बैठा हूं

मुझे चैनो सुकून हासिल कहां जिंदगी में
मैं रातों में बड़ी देर तक जागकर बैठा हूं

दिल जलाकर शायरी इमेज

हो जाए शायद रोशनी मुझसे दुनिया में
इसलिए मैं अपना दिल जलाकर बैठा हूं

मुझे गिला किसी से नहीं, मेरे अपनों से है
वैसे तो दुश्मनों का भी भला कर बैठा हूं

इस दुनिया में ज्यादा शरीफ लोग रहते हैं
मैं यहां से निकलने का इरादा कर बैठा हूं

इस जहां में वो ना मिल सकी तो क्या हुआ
मैं सितारों में मिलने की वादा कर बैठा हूं

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी – लोग फिर भी लूटने आ जाते हैं

love shayari photo prev love shayari image next

हम किसी से कुछ मांगने नहीं  जाते हैं
लोग फिर भी हमको लूटने आ जाते हैं

जब भी उनको काम निकालना होता है
वो हमको अपने घर खाने पर बुलाते हैं

अगर मैं किसी काम के लिए ना कहता हूं
वो अगले ही पल मेरे दुश्मन बन जाते हैं

बिना मतलब के होते हैं जो रिश्ते नाते
हमने पाया कि वही रिश्ते टिक पाते हैं

©rajeevsingh              love shayari

शायरी – मौत से इश्क को मुहब्बत है

love shayari hindi shayari


दर्द ही इश्क की हकीकत है
मौत से इश्क को मुहब्बत है

बादल आवारा चांद क्यूं पाए
रोनेवालों की यही किस्मत है

ये जमाना तो मेरा दुश्मन है
और जमाने से मुझे नफरत है

कैसे भुलूं मैं जिंदगी में तुझे
मेरी तन्हाई की तू जरूरत है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – कांटों से दिल जोड़ आए

love shayari hindi shayari


दुनिया को हम छोड़ आए
दुश्मन का दिल तोड़ आए

कानों में जब रूई लगे हैं
कैसे कहीं से शोर आए

रस्ते ही जहां टूटे मिले थे
ऐसे भी कुछ मोड़ आए

फूलों के धोखे में हम तो
कांटों से दिल जोड़ आए


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

इश्किया शायरी- तेरी तस्वीर बनी थी उसमें, जब जमीं पे आईना था गिरा

prevnext
कौन होता है दुश्मन से बुरा
मैंने सोचा तो था चेहरा तेरा
तेरी तस्वीर बनी थी उसमें
जब जमीं पे आईना था गिरा
सारी तकलीफ जमा की जाए
दिल बड़ा खाली लगता है मेरा
काट न ऐसे मुकद्दर मुझको
आशिक पर तू रहम कर जरा

©RajeevSingh

शायरी – वो दिलबर तो बेखबर है तेरे दर्द से दोस्त

love shayari hindi shayari

दबी जुबां से हमने ये कहा ऐ तन्हा-तन्हा
कब तलक प्यार करेगा तू तन्हा-तन्हा

वो दिलबर तो बेखबर है तेरे दर्द से दोस्त
क्यूं तुम उसके लिए रोते हो तन्हा-तन्हा

तू उनकी गली में जाता है क्या सोचकर
फिर लौट आता है अपने घर तन्हा-तन्हा

ये तेरा दिल तो तेरा ही दुश्मन निकला
कर दिया तुझको आशिक और तन्हा-तन्हा

©RajeevSingh #love shayari