aazadi shayari

आजादी स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त शायरी

15 अगस्त को देशभर में आजादी का जश्न मनाया जाता है और लोग एक-दूसरे को बधाई संदेश के साथ शायरी भी भेजते हैं। वैसे देश की आजादी की लड़ाई के दौरान कई शायर हुए जिन्होंने अपनी शायरी से लोगों में मन में क्रांति का जोश भरा।

सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा, सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है जैसी शायरी आज भी देशवासियों के दिलों में देशप्रेम का रस भर देती हैं। आजादी के कई दीवाने गीत गाते हुए फांसी के फंदे से लटक गए और इतिहास आज भी उन्हें याद करता है।

aazadi shayari1

देश की आजादी के इतने साल बीतने के बाद आज भारत दुनिया में काफी आगे जा चुका है लेकिन अतीत को कभी भूलना नहीं चाहिए। इतिहास के एक विद्वान ने कहा है कि जो इतिहास भूल जाते हैं उनके साथ फिर इतिहास दुहराया जाता है।

15 अगस्त के अवसर में हर साल देशवासी अपनी आजादी को हमेशा बनाए रखने की शपथ लेते हैं और उन दिनों को याद करते हैं जब हमारा देश गुलामी की जंजीरों से जकड़ा था, यह गीत गाते हुए कि अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं, सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं। पेश है आजादी पर चंद लाइनें –

गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा
चमक रहा आसमा में देश का सितारा
आजादी के दिन आओ मिलके करें दुआ
कि बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा

भूल न जाना भारत मां के सपूतों का बलिदान
इस दिन के लिए हुए थे जो हंसकर कुरबान
आजादी की ये खुशियां मनाकर लो ये शपथ
कि बनाएंगे देश भारत को और भी महान

हम आजाद हैं, ये आजादी कभी छिनने नहीं देंगे
तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नहीं देंगे
कोई आंख भी उठाएगा जो हिंदुस्तान की तरफ
उन आंखों को फिर दुनिया देखने नहीं देंगे

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

2 thoughts on “आजादी स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त शायरी”

  1. बहुत शानदार स्वतंत्रता दिवस शायरी पोस्ट धन्यवाद सर

  2. मेरा देश महान था महान हे महान रहैगा और इसे रोकने का कायृ जो करेगा उसका वही हाल होगा जो (अजमल कसाब और याकूब मेमन के साथ हुआ हे) (आइ लभ यू)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.