गजल शायरी

शायरी – दर्दे जुदाई हम सह न सके

दर्दे-जुदाई हम सह न सके तेरे बिना हम रह न सके किस्मत में था इस जनम में जीकर भी जिंदा रह न सके

 

new prevnew shayari pic

दर्दे-जुदाई हम सह न सके
तेरे बिना हम रह न सके

किस्मत में था इस जनम में
जीकर भी जिंदा रह न सके

कोशिश की तुझे भूलने की
याद किए बिना रह न सके

अपनी खबर न जमाने की
पर तुमसे बेखबर रह न सके

©RajeevSingh

prev shayari greennext shayari green

Advertisements

Leave a Reply