प्यार का अहसान शायरी इमेज

शायरी – वो कायनात लिए फिरते थे अपने आँचल में

new prev new shayari pic

अरमानों की बात कहकर हर चीज पर मुझे टोका
अपनों ने ही इस कदर मेरी जिंदगी का गला घोटा

जब कभी नया कुछ करने निकला इस दुनिया में
लोगों ने कदम कदम पर मुझे वह करने से रोका

बहुत अहसान हो चुका है बेवफाओं का मुझपर
जीना तो उनसे भी सीखा जिसने दिया था धोखा

अपने आंचल में वो कायनात को लिए फिरती थी
उसकी दहलीज से दिल खाली दामन लिए लौटा

©rajeevsingh              शायरी

prev shayari green next shayari green