2 लाइन शायरी 2 line shayari

शायरी – ना गम से खिलवाड़ किया, ना दर्द से इनकार किया

ना गम से खिलवाड़ किया, ना दर्द से इनकार किया

अपने ही जिगर को जख्मी, तेरी यादों से हर बार किया

Advertisements

Leave a Reply