शायरी – गज़ल बन उठे हैं मेरे दर्द औ गम

गूँजे है दिल में मुहब्बत के सरगम

गज़ल बन उठे हैं मेरे दर्द औ गम

मेरा जिस्म तुमसे जुदा है तो क्या

होता है दिल में तेरा-मेरा संगम

Advertisements

कमेंट्स यहां लिखें-

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s