गम शायरी

शायरी – सीने में जब तेरी कोई याद न रही

तुम भूल चुके हो, आशिक थे तेरे हम हम भूल चुके हैं जब तू साथ न रही

new prev new next

सीने में जब तेरी कोई याद न रही
अब चांदनी रातों में भी वो बात न रही

तुम भूल चुके हो, आशिक थे तेरे हम
हम भूल चुके हैं जब तू साथ न रही

हंसते हैं, बोलते हैं, सोते भी हैं रात को
अब मेरे पास इश्क की सौगात न रही

बढ़ते ही जा रहे कदम भीड़ की तरफ
मैं क्या करूं जब तन्हा सी फरियाद न रही

©RajeevSingh

Advertisements

Leave a Reply