टॉप हिंदी शायरी

शायरी – दिल में दर्द बसाने की हसरत ही नहीं

तेरी दुनिया बेरहम हो चुकी मालिक यहां आंसू बहाने की फुरसत ही नहीं

new prev new next

तेरी दुनिया बेरहम हो चुकी मालिक
यहां आंसू बहाने की फुरसत ही नहीं

हर कोई परेशां है खुशियों के लिए
दिल में दर्द बसाने की हसरत ही नहीं

ऐसी दुनिया में कोई क्यों करे मुहब्बत
जिसने पहचाना तेरी कुदरत ही नहीं

जो सामने किसी के सच बोल देता हो
उनसे रखता यहां कोई सोहबत ही नहीं

©RajeevSingh

Advertisements

Leave a Reply