दर्द लव शायरी

शायरी – मुझसे वो खफा है और दिल मुझसे खफा है

मुझसे वो खफा है और दिल मुझसे खफा है खंजर चुभे हैं दोनों तरफ से पर आह तक न आए सबसे जुदा है मेरा गम, फूल की तरह नाजुक है इतने जतन से संभाला है कि मुस्कान तक न आए

prevnext

हालात ही कुछ ऐसे हैं, तो आंसू क्यूं न आए
जिसके खयालात में हम थे, वो अब तक न आए

रोने गए सागर किनारे, साहिल पे ही बैठ गए
ये सोचते डूब गए कि पानी सर तक न आए

मुझसे वो खफा है और दिल मुझसे खफा है
खंजर चुभे हैं दोनों तरफ से पर आह तक न आए

सबसे जुदा है मेरा गम, फूल की तरह नाजुक है
इतने जतन से संभाला है कि मुस्कान तक न आए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply