गम भरे शायरी

शायरी – उसकी आंखों में तुमसे इश्क सा नजर आए

जिन मजारों पे कोई फूल न दिखता हो वो किसी आशिक के घर सा नजर आए जो कफन को देखते हैं तेरे आंचल में उसकी आंखों में तुमसे इश्क सा नजर आए
prevnext

दुख के श्मशान में एक कब्र है जीवन का
जिसे भी देखिए वो लाश सा नजर आए

दिल में हंसते हुए आए थे वो मैयत पे
चेहरे से जो गम में डूबे से नजर आए

जिन मजारों पे कोई फूल न दिखता हो
वो किसी आशिक के घर सा नजर आए

जो कफन को देखते हैं तेरे आंचल में
उसकी आंखों में तुमसे इश्क सा नजर आए

©RajeevSingh

 

Advertisements

One comment

Leave a Reply