सूफी शायरी

शायरी – ऐ मेरे दोस्त, मेरे दर्द पे तू क्यों मर गया

शायरी मेरी दुनिया कभी आबाद खुदा कर देता अपने अहसास से भी जुदा वो कर देता सारा मंजर उसके हुस्न की रानाई है काश सबको वो ऐसी इश्क की नजर देता

love shayari hindi shayari

मेरी दुनिया कभी आबाद खुदा कर देता
अपने अहसास से भी जुदा वो कर देता

सारा मंजर उसके हुस्न की रानाई है
काश सबको वो ऐसी इश्क की नजर देता

ऐ मेरे दोस्त, मेरे दर्द पे तू क्यों मर गया
इससे पहले तू मुझे थोड़ी सी जहर देता

उस मालिक ने मेरे पैरों को इतने कांटे दिए
कि कभी सोचा नहीं फूलों की रहगुजर देता

(रानाई – सौंदर्य)

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply