शायरी – हुस्न क्या चीज है, उन आंखों में डूबकर जाना

love shayari hindi shayari

हुस्न क्या चीज है, उन आंखों में डूबकर जाना
इश्क क्या होता है, अश्कों को बहाकर जाना

वो मुसलसल रहती है मेरे जिस्मो-जां में
अपने खयालों की किताबों को पढ़कर जाना

लुत्फ मिलता है गमे फिराक के मंजर में भी
हिज्र में चांद-सितारों के संग जागकर जाना

बुझ गया था वो चिराग मेरे जीवन का
मैंने शहनाई की आवाज को सुनकर जाना

गमे फिराक – जुदाई का गम
हिज्र – जुदाई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply