बेबस दर्द के आंसू इमेज शायरी

बेबस दर्द आंसू शायरी फोटो

बेबस दर्द के आंसू बह जाए भी तो क्या
वक्त लगता नहीं छलक के सूख जाने में

कितना दर्द है इस जिंदगी में, यहां हर रिश्ता दर्द देता है, रवायतों की जंजीरों में बंधकर, हर रिश्ता घुट घुट कर जीता है। शायरी इमेज ।

Leave a Reply