आजाद पनाहों में शायरी फोटो

आजाद आशिक शायरी इमेज

न किसी बंदिश में, ना मकानों में है
मेरा अंजाम बस आजाद पनाहों में है

Advertisements

बंदिशों में मोहब्बत कहां होता है, हो भी जाए तो ये दुश्मन जहान होता है, जो आशिक इस दुनिया का सामना कर ले, मोहब्बत के फसाने में वो महान होता है। इमेज शायरी।

Advertisements

Leave a Reply