शायरी – तस्वीर के मानिंद ही आँखों में आ जरा

love shayari hindi shayari

घूंघट उठा ऐ अजनबी, सूरत दिखा जरा
पर्दे की ओट में न छिप, बाहर निकल जरा

दिल के सफ़र में कट गई रातें जगी हुई
मुद्दत हुए सोया नहीं, लोरी सुना जरा

बढ़ती हुई ये धड़कनें, होती हुई तेज सांस
पसीने-पसीने हो गया, आंचल डुला जरा

राहत मिलेगी चंद पल तुझको निहारकर
तस्वीर के मानिंद ही आंखों में आ जरा

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

Leave a Reply