आशिक शायरी

शायरी – हमसे अगर ये राज तुम बतलाओ तो जानूं

शायरी ये साज जो तुम दे गए वो बज न पाते हैं हम इश्क तुमसे कर गए पर कह न पाते हैं मेरे कदमों के नीचे जो थोड़ी सी जमीन है उस पर हम एक पल के लिए टिक न पाते हैं

love shayari hindi shayari

ये साज जो तुम दे गए वो बज न पाते हैं
हम इश्क तुमसे कर गए पर कह न पाते हैं

मेरे कदमों के नीचे जो थोड़ी सी जमीन है
उस पर हम एक पल के लिए टिक न पाते हैं

हमसे अगर ये राज तुम बतलाओ तो जानूं
तेरी गली से अलग क्यूं कोई राह न पाते हैं

बस्ती की हर गली में तुम कैद में जीती हो
हम तो बिना उड़े हुए कभी जी न पाते हैं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply