शायरी – अश्कों में डूबता हुआ जलता हुआ दिल है

love shayari hindi shayari

मेरी उदास शाम की हालत तो देखिए
ढलते हुए शबाब की सूरत तो देखिए

अश्कों में डूबता जलता हुआ दिल है
सागर में उतरता हुआ सूरज तो देखिए

जैसे उड़ता परिंदा आकाश चीड़ता हो
सीने में उठे दर्द की ताकत तो देखिए

तन्हा सा आधा चांद फलक पे जला है
सितारों की भीड़ में आशिक तो देखिए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

2 thoughts on “शायरी – अश्कों में डूबता हुआ जलता हुआ दिल है”

  1. Nighaye Apaki khanjar hai to adaye banduk se kam nahi jo log Aap par marte hai un bebkupho me se Ham nahi

  2. तुम से मुमकिन हो तो फिर रोक दो सांसें मेरी,
    दिल जो धड्केगा तो फिर याद तो तुम आओगे ही…

Comments are closed.