शायरी – मेरे लब चूम लेते माहजबीं को मगर

love shayari hindi shayari

अपनी जान गंवा दी, ये जुबां गंवा दी
हमने तेरे खातिर दो जहान गंवा दी

जब चांद का हुस्न देखा हमने अचानक
रातों में इश्क की नई दुनिया बसा दी

सीने में टूटे थे दिल के हजार टुकड़े
उन टुकड़ों में तूने एक तस्वीर बना दी

मेरे लब चूम लेते माहजबीं को मगर
उसने जुदा रहने की जिंदगीभर सजा दी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements