शायरी – तुमसे रिश्ता है कैसा, आईना जानता है

love shayari hindi shayari

दर्द ही एक मरहम है इस दिल के लिए
और आंसू ही जीवन है इस दिल के लिए

जिस मुसाफिर को तुम पागल समझ बैठे हो
वो दीवाना बन गया है इस दिल के लिए

तुमसे रिश्ता है कैसा, आईना जानता है
उसमें एक अक्स है तेरा इस दिल के लिए

किसी बेबस की तरह मैं नहीं जी पाता हूं
जब गजल लिख नहीं पाता इस दिल के लिए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari