शायरी – ऐ हुस्न एक शम्मा जला दे जरा

love shayari hindi shayari

है चारों तरफ मेरे दिल में अंधेरा
हुस्न एक शम्मा जला दे जरा

चिट्ठी लिखूंगा उन्हें अब लहू से
ओ आंखें अब खूं तो बहा दे जरा

अब दिन-रात तेरे खयालों में हैं
इसे अब हकीकत बना दे जरा

गैरों के ताने जब दिल में चुभे
दिले-नादां तू मुस्कुरा दे जरा

©RajeevSingh #love shayari

Advertisements

Leave a Reply