शायरी – तुम हमसे प्यार करते हो, हमी से दिल छुपाते हो

love shyari next

हया से बात करते हो, हमी से नैन चुराते हो
तुम हमसे प्यार करते हो, हमी से दिल छुपाते हो

अपने शर्म के कागज पर कुछ लिखा नहीं तुमने
जो खत के दायरे में न आए, उसे क्यूं पढ़ाते हो

नमी आंखों में है तेरी, लबों पे एक तबस्सुम है
फिजा में दर्द है और तुम बहारों को दिखाते हो

तुम परवाज हो फिर भी तुम्हारे पंख सिमटे हैं
मेरी बाहों में आकर भी उड़ने से शरमाते हो

तबस्सुम – मुस्कान
परवाज- पंछी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

One thought on “शायरी – तुम हमसे प्यार करते हो, हमी से दिल छुपाते हो”

Leave a Reply