शायरी – तेरा सुरूर जबसे निगाहों पे छा गया

love shayari hindi shayari


तेरा सुरूर जबसे निगाहों पे छा गया
जाना था अपने घर तो तेरे दर पे आ गया

बेहोश था जब आया तेरे मयकदे में मैं
तूने थमाया जाम तो मुझे होश आ गया

कितने करम किए हैं मुझपे मेरे खुदा
जिनके सितम से जीने का मजा आ गया

शम्मे को जलता देखकर मैं उसमें जल गया
ये जिस्म खाक था मगर मैं पाक हो गया


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements