शायरी – मेरी चाहत से तेरी दूरी का ये आलम है

love shayari hindi shayari

कई आंसू हैं जो आंखों में नहीं आ पाते
मगर सीने की गहराई में हैं जम जाते

प्यार खुद से ही करता हू, दुनिया से नहीं
ऐसी बेगानी आदत से क्या सनम पाते

कहां मिलती हैं खुशियां अपने जीवन में
हर कदम पे यहां राहों पे हैं गम पाते

मेरी चाहत से तेरी दूरी का ये आलम है
ये न हो पाया कि एक मोड़ पे हम-तुम आते

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari