शायरी – डूबकर मर गया हुस्न में वरना

love shayari hindi shayari

मेरे दर्द से उसको मतलब नहीं होता
बेवफा का दिल मेरा आशिक नहीं होता

देखती है जमाने में वो हर तरफ लेकिन
उसका चेहरा कभी मेरे जानिब नहीं होता

डूबकर मर गया उस हुस्न में वरना
इश्क मेरा दुनिया में साबित नहीं होता

जिंदगी भर तेरे जलवों में जलता रहा
रू ब रू अब कोई आतिश नहीं होता

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements