शायरी – जल रही है तेरी चाहत जिस सीने में

love shayari hindi shayari

कोई गुमनाम भटकता है सहरा में
कोई प्यासा तरसता है सहरा में

जल रही हैं तेरी चाहत जिस सीने में
वही आशिक सुलगता है सहरा में

इस जमाने में उसको लैला न मिली
उसे तलाशने निकला है सहरा में

मौत भी आएगी तो बड़ा खुश होगा
इतना दीवाना बना है वो सहरा में

सहरा- वीराना

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements