शायरी – होठों पे तराने हैं और आंखों में आंसू

love shayari hindi shayari

दिल ही दिल में रोते हैं दर्द तेरा लेकर
सबको ये पता है, तुमको नहीं खबर

होठों पे तराने हैं और आंखों में आंसू
बहारों के मौसम में नजरों में पतझड़

वो हो गयी गैरों के आंगन की इज़्जत
दीवाने जरा देख ले गौर से ये मंजर

भले ही जुदाई का तुमपे न हो असर
हम रोए तुझे देखकर, रोएंगे बिछड़कर

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements