आशिक शायरी

शायरी – जहां खो जाते हैं आवाज मेरी आहों के

शायरी हम तेरा कर्ज कभी ना चुका पाएंगे जितने आंसू दिए तूने, ना बहा पाएंगे पूछने आए थे वो मुझसे मेरे दिल की खबर कह दिया उनसे कि हम न बता पाएंगे

love shayari hindi shayari

हम तेरा कर्ज कभी ना चुका पाएंगे
जितने आंसू दिए तूने, ना बहा पाएंगे

पूछने आए थे वो मुझसे मेरे दिल की खबर
कह दिया उनसे कि हम न बता पाएंगे

जख्म होते हैं हरे दर्द की आहट पाकर
तेरे आने की उम्मीद ना मिटा पाएंगे

बीत जाने दो ये रात भी यूं रोते हुए
ऐ मेरे दिल, हम तुझे न हंसा पाएंगे

जहां खो जाते हैं आवाज मेरी आहों के
ऐसे दर से तो कभी ना वफा पाएंगे

Advertisements

Leave a Reply