तलाश शायरी दर्द लव शायरी

शायरी – तुम तो बड़ी हसीं हो, तुझे देखकर मैं खिंच गया

मैं कौन हूं जो बेसबब आया तेरे हुजूर में

तूने सच कहा ऐ अजनबी, मैं हूं किसी सुरूर में

 

तुम तो बड़ी हसीं हो, तुझे देखकर मैं खिंच गया

कुछ तो गुनाह है जिसे तूने देखा बेकसूर में

 

मेरी अदायगी है ये, तेरी हर सजा कुबूल है

ये जख्म भी इनाम है, मेरे इश्क के दस्तूर में

 

तुझे खोजना मेरा काम था, मुझे भूलना तेरा काम है

मंजिल मेरी मुझे मिल गयी, जी लूंगा इस गुरूर में

Advertisements

Leave a Reply