तलाश शायरी दर्द लव शायरी

शायरी – तू पढ़के जरा देख ले मेरे इश्क का जुनूं

इस जिंदगी में मेरे जितने भी दर्द हैं

दिल के लिए तो ये दिलरुबा के कर्ज हैं

 

आंखों में ये मौसम कभी खुशगवार थी

पर आजकल इन आंखों में हर ख्वाब सर्द हैं

 

इन तारों ने हर रात मेरे दिल को समझाया

अपने ही अंधेरों में खुद जलना ही फर्ज है

 

तू पढ़के जरा देख ले मेरे इश्क का जुनूं

दीवाने का हर जज्बा गजलों में दर्ज है

Advertisements

Leave a Reply