शायरी – अजी हम मर गये थे आपके इशारे पे

love shayari hindi shayari

नजर में डूबके न आ सके किनारे पे
अजी हम मर गये थे आपके इशारे पे

गुजरती रात के आलम में चैन हो कैसे
निगाहें हैं टिकी उस चांद के नजारे पे

कहीं पे सब्र का पानी मिले तो मैं पी लूं
भटक रहा हूं मैं हर एक के चौबारे पे

मुझे भी दफ्न करो अपने दिल की तरह
कि रूह जीता रहे तेरे दर्द के सहारे पे

©RajeevSingh #love shayari

 

Advertisements