शायरी – अब गिन रहा हूं मैं दर्दे दिल लिए हुए

love shayari hindi shayari

भूख से जिंदगी में जब बेहाल हो गए
जेहन, जिगर, गजल भी फटेहाल हो गए

मरघट में जब हमने एक घर तलाश लिया
दुनिया की लाशों के लिए मिसाल हो गए

कदमों में पड़ी थी जो चप्पल टूटी हुई
रास्तों के लिए हम भी एक सवाल हो गए

अब गिन रहा हूं मैं दर्दे दिल लिए हुए
किस किससे हुआ इश्क, इतने साल हो गए

मरघट- श्मशान

©RajeevSingh # love shayari