शायरी – उसे फिर से पा लिया जिसे खो चुका था मैं

love shayari hindi shayari

उसे फिर से पा लिया जिसे खो चुका था मैं
फिर से मिली सांस वरना मर चुका था मैं

अच्छा हुआ फिर रास्तों पर तुम मिल गए
तेरी यादों के हर जख्म से उबर चुका था मैं

कांटे जब दिल को फूल सा सुख देने लेगे
उससे पहले दर्द से बहुत गुजर चुका था मैं

इश्क की खामोशी में कहां तक सुकूं मिले
बेचैन रात में सन्नाटा सा पसर चुका था मैं

©RajeevSingh # love shayari