शायरी – जिसने न जाना किसी से कभी वफा करना

love shayari hindi shayari

जिंदगी जब भी दर्द की पुकार सुनती है
मेरी नजर तेरे आने का इंतजार करती है

मुहब्बत के मौसम ने दिया है ये सिला
रेत में रोज ही बूंदों की बौछार गिरती है

जिसने न जाना किसी से कभी वफा करना
उसे आशिक न मिले तो बीमार पड़ती है

जिस शहर, जिस गली से गुजरता हूं मैं
दुनिया अक्सर तेरी चर्चा बेशुमार करती है

©RajeevSingh # love shayari

2 thoughts on “शायरी – जिसने न जाना किसी से कभी वफा करना”

Comments are closed.