शायरी – तुम्हें खूब आता है उल्फत निभाना

love shyari next

वीराने में आकर यूं दिल को लगाना
तुम्हें खूब आता है उल्फत निभाना

है चारों तरफ फैला दरिया का पानी
ये दर्द का मंजर, है तुझे समझाना

जरा तुम ये भी शरारत करके देखो
इन होठों से छूकर गले से लगाना

तेरी इस अदा पे मैं मरती रही हूं
तू अपनी अदा को जरा दुहराना

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply