गजल शायरी

शायरी – हम तो आवारा हुए हैं बस तेरे लिए

दर्द से भागकर आखिर कहां जाओगे अपने आंसू किस कूचे में छोड़ आओगे रस्मे-दुनिया की जंजीरें अगर तोड़ोगे अपने रिश्तों के लहू में जहर पाओगे

love shayari hindi shayari

दर्द से भागकर आखिर कहां जाओगे
अपने आंसू किस कूचे में छोड़ आओगे

रस्मे-दुनिया की जंजीरें अगर तोड़ोगे
अपने रिश्तों के लहू में जहर पाओगे

ऐ सनम इश्क में जान चली जाती है
वही दास्तां तुम फिर से दोहराओगे

हम तो आवारा हुए हैं बस तेरे लिए
इश्क की राह पर तुम भी भटक जाओगे

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

One comment

Leave a Reply