शायरी – तुमसे बिछड़ कर चैन पाया न कभी

love shayari hindi shayari

तुमसे बिछड़ कर चैन पाया न कभी
एक पल को तुझे भूल पाया न कभी

दर्द कुछ इस तरह सीने में तड़पता रहा
आंखों से अश्क निकल पाया न कभी

हर मकाम तेरी याद मुझे दिलाता रहा
कहीं पर देर तक मैं ठहर पाया न कभी

तुझे भुलाने की कोशिशों में मेरी जान
इश्क के हादसे से उबर पाया न कभी

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements