शायरी – तू गुलाब सी महकी जिस्मो जां में

love shayari hindi shayari

तुम्हारी यादों में ये कैसा जादू है
दिल के शहर में हालात बेकाबू है

तू गुलाब सी महकी जिस्मो जां में
करवटों से भरी ये रात बेकाबू है

मेरी तन्हाई है गवाह इस मंजर का
कि इन आंखों में बरसात बेकाबू है

कट रही है उम्र मेरी दोजख में
जिंदगी में ये भड़की आग बेकाबू है

(दोजख- नर्क)

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements