शायरी – मेरी पलकों के साये में

love shyari next

अक्स तेरा चांद का टुकड़ा
चांदनी सा बदन में बिखरा

तेरी जुल्फों तले सवारूंगा
ख्वाब है जितना भी उजड़ा

मेरी पलकों के साये में
तेरे दरस का दर्द है गहरा

तू जबसे जीवन में आई
कटता नहीं वक्त का कतरा

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements