शायरी – कितने दुख सहे तेरे इश्क में

love shyari next

दर्द से मेरे दिल का रिश्ता
तुमसे भी कुछ ऐसा ही था

दिल में कितने गुलाब खिले
जब मन उलझा कांटों में था

कितने दुख सहे तेरे इश्क में
इससे अच्छा तन्हा ही था

जब टूटा था घर ये मेरा
दीवारों संग आईना भी था

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari