शायरी- रोशनी हुस्न की पायी जबसे

prevnext

किसी दामन का क्या भरोसा है
हमको दुनिया का तजरबा है

रोशनी हुस्न की पायी जबसे
दिल की तस्वीर में अंधेरा है

उतर आया हूं गहरे सागर में
अब तो आंसू का ही सहारा है

क्यूं परायों से हम खुशी मांगें
जब मेरा गम ही मुस्कुराता है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari