शायरी – जब से आंखों पे छाए हो

love shayari hindi shayari


दर्द है आता जिस रस्ते से
तुम भी आए उसी रस्ते से

जब से आंखों पे छाए हो
सुबह न आई किसी रस्ते से

दुख पाने से डरते हो तुम
जाओ भीड़ भरे रस्ते से

रोते नज्मों को संग लिए
तन्हा चले अपने रस्ते से


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply