शायरी – बह गए आंसू कतरा-कतरा

love shayari hindi shayari


खत का ये छोटा सा टुकड़ा
लाया है महबूब का दुखड़ा

सहमी-सहमी उंगलियों से
बह गए आंसू कतरा-कतरा

लिखा तो बहुत कुछ उसने
लेकिन हर्फ है बिखरा-बिखरा

कोरा कागज, कितनी बातें
बहता सागर, प्यासा गहरा


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply