मुहब्बत शायरी

शायरी – राह पे जब तू साथ न आया

शायरी तेरा दामन मेरे हाथ न आया तुझपे भी कोई दाग न आया पीछे मुड़के अब क्या देखूं राह पे जब तू साथ न आया

love shayari hindi shayari


तेरा दामन मेरे हाथ न आया
तुझपे भी कोई दाग न आया

पीछे मुड़के अब क्या देखूं
राह पे जब तू साथ न आया

रख ली हथेली पे माथे को
दर्द को जब दिल झेल न पाया

मेरी आंखें तुमसे जुदा हैं
रात हुई पर चांद न आया


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply